Best 5 Low Risk Investment Plan In Hindi | सबसे कम रिस्क वाले इन्वेस्टमेंट

Best 5 Low Risk Investment Plan In Hindi | सबसे कम रिस्क वाले इन्वेस्टमेंट

Best 5 Low Risk Investment Plan In Hindi :

दोस्तों आप में से बहुत सारे इन्वेस्टर होंगे जो कैपिटल इन्वेस्ट तो करना चाहते है लेकिन अपना कैपिटल लूस करने के डर की वजह से इन्वेस्टिंग नहीं करते लेकिन येसा बिलकुल भी नही है की सारे इन्वेस्टमेंट आप्शन रिस्की होते है आज हम आपको येसे कुछ प्लान बताने वाले है जिनमे रिस्क बहुत कम होता है जो इन्वेस्टर अपनी कैपिटल ग्रोथ की बजाय सेफ्टी को ज्यादा प्राथमिकता देते है उनके लिए आप्शन बहुत मददगार हो सकते है इसलिए इस आर्टिकल के माध्यम से इन 5 इन्वेस्टमेंट प्लान को डिटेल में समझाने वाले है

Fixed deposit and Recurring deposit, post office scheme, national pension system (NPS), government bond and security, Non-Equity mutual fund

1. Fixed deposit and Recurring deposit :

जब भी सेफ इन्वेस्टमेंट की बात अहि तो FD और RD का नाम सबसे पहले आता है ना सिर्फ आज बल्कि पिछले कई डेकेट से FD और RD को सबसे सेफ इवेस्टमेंट आप्शन माना जाता है लगभग सभी बैंक FD और RD की सर्विस प्रोवाइड करते है

FD और RD की maturity पर आपको Guarantee return मिलता है और इनमे रिस्क लगभग जीरो रहता होता है FD और RD में अंतर यही है की FD आप एक सिंगल डिपाजिट पैसा इन्वेस्ट करते है जबकि RD में आप रेगुलर इंटरवल पर एक फिक्स इन्वेस्ट करते है तो अगर आप अपने इन्वेस्टमेंट में बिलकुल भी रिस्क नहीं लेना चाहते है तो आपको FD या RD में जरुर सोच विचार करना चाहिए

2 post office scheme :

दोस्तों FD और RD के बाद पोस्ट ऑफिस स्कीम को सबसे सेफ और सिक्यूरिटी इन्वेस्टमेंट आप्शन माना जाता है पोस्ट ऑफिस स्कीम इंडियन पोस्ट डिपार्टमेंट द्वारा प्रोवाइड की जाती है इनमे मिलने वाला रिटर्न बैंक और दूसरी NBFC (Non-banking finance corporation) से ज्यादा होता है गवर्नमेंट फ़िलहाल 9 ऐसी स्कीम प्रोवाइड करती है जैसे पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड (public provident fund) जिसको हम PPF के नाम से जानते है सुकन्या समर्धि योजना, किसान विकास पत्र,नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट ,सीनियर सिटिज़न सेविंग स्कीम इत्यादि

अगर हम PPF की डिटेल में बात करे तो PPF में आपको fixed return और tax Exemptions मिलता है इस स्कीम का locking period 15 साल का होता है लेकिन 5 साल के बाद partial withdraw की सुविधा दी जाती है और अगर आप 15 साल के बाद भी इन्वेस्ट करना चाहते है तो इसे extend यानी की आगे बड़ा सकते है इस स्कीम में आपको अकाउंट एक्टिव रखने के लिए हर साल आपको कम से कम 500 रूपए डिपाजिट करना होता है इसका कारण ब्याज दर 7.1 % हर साल लगता है

पोस्ट ऑफिस स्कीम में ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट और ट्रैकिंग प्लेटफार्म की सुविधा नहीं दी जाती PPF के अलावा भी अगर आप सभी सेविंग स्कीम की डिटेल जानना चाहते है तो आप इंडिया पोस्ट वेबसाइट के सेविंग स्कीम सेक्शन को विजिट कर सकते है आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में विजिट करके इस स्कीम का अकाउंट ओपन करवा सकते है

3 national pension system (NPS) :

national pension system ( NPS ) एक voluntary contribution स्कीम है इंडियन गवर्नमेंट ने ये स्कीम इंडिया के सभी सिटिज़न को Retirement benefit के उद्देश्य से लांच की है इस स्कीम में आपका इन्वेस्टमेंट मार्केट लिंक्ड होता है जहा आपका पैसा professional fund managers मैनेज करते है इसलिए इसमें PPF के caparison में थोडा ज्यादा रिस्क मिलता है आप कम से कम 500 रूपए डिपाजिट करवाके अपना अकाउंट ओपन करवा सकते है

Maturity के बाद आपके corpus का कम से कम 40% हिस्सा आपको लाइफ टाइम पेंशन देने के लिए उपयोग किया जाता है और बाकी अमाउंट आपको एक lump sum के रूप में आपको pay कर दिया जाता है क्योकि ये स्कीम मार्केट लिंक्ड है तो इसमें रिटर्न भी वेरी करता है लेकिन पिछले रिकॉर्ड के अनुसार इसमें आपको लगभग 9% से 12% का हर साल का रिटर्न मिल जाते है,

4 government bond and security :

गवर्नमेंट रिटेल इन्वेस्टमेंट से पैसा borrow करने के लिए सिक्यूरिटी इशू करती है इनका Maturity period 91 दिनों से लेकर 40 साल तक का हो सकता है जिन गवर्नमेंट सिक्यूरिटी का maturity period एक साल से कम होता है उनको T-BILL और Treasury bills कहते है और जिन गवर्नमेंट सिक्यूरिटी पीरियड एक साल से ज्यादा होता है और उनको bonds कहते है

SGB यानी की sovereign gold bonds को भी गवर्नमेंट सिक्योरिटीज के अंडर ही कंसीडर किया जाता है अगर हम इनके रिटर्न की बात करे तो जिन सिक्योरिटीज का Maturity period एक साल से कम होता है उनमे औसतन 3 से 4% साल का रिटर्न मिलता है और जिन सिक्योरिटीज का maturity period एक साल से ज्यादा होता है तो उनमे आपको 6 से 7% का रिटर्न मिलता है

गवर्नमेंट सिक्योरिटीज को इंडियन गवर्नमेंट इशू करती है इसलिए इनमे रिस्क बिलकुल ना के बराबर होता है लेकिन bonds और security का सबसे बड़ा नुकसान ये होता है की इनमे इन्वेस्टमेंट अमाउंट हाई होती है और इसलिए आपके और हमारे जैसे रिटेल इन्वेस्टर उनमे इन्वेस्ट कर पाए येसा जरुरी है अगर SGB की बात करे तो उनमे इन्वेस्ट करने के लिए भी आपको कम से कम 1 ग्राम की गोल्ड की अमाउंट इन्वेस्ट करनी पड़ेगी

5 Non-Equity mutual fund :

दोस्तों Non-Equity mutual fund में debt funds ,liquid funds ,money market funds ,इत्यादि शामिल है इन म्यूच्यूअल फण्ड में आपका पैसा सेफ इन्वेस्टमेंट आप्शन जैसे की government bonds ,debentures और gold bonds इत्यादि में इन्वेस्ट किया जाता है स्टॉक मार्केट से link ना होने के कारण in mutual fund में रिस्क काफी कम होता है

इन mutual fund का समय horizon funds के टाइम के हिसाब से short term ,medium term और long term हो सकता है तो आप अपने रिस्क और फाइनेंस गोल के हिसाब से इन mutual fund का चुनाव कर सकते है

निष्कर्स :

दोस्तों ये थे (Best 5 Low Risk Investment Plan In Hindi) जिनमे आप अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकते है अगर आप ज्यादा रिस्क नही लेना चाहते है इसलिए हमने आपको Best 5 Low Risk Investment Plan In Hindi के बारे में बताया है क्योकि इसमें रिस्क कम है इसलिए इनमे मिलने वाला रिटर्न भी कम है तो एक इन्वेस्टर को अपने फाइनेंसियल गोल और रिस्क प्रोफाइल के हिसाब से ही इन्वेस्ट करना चाहिए अगर आप बहुत कम रिस्क लेना चाहते है तो आप इन प्लान को सेलेक्ट कर सकते है उम्मीद करते है हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी आपको यूज़फुल लगी होगी – धन्यवाद् –

इन्हें भी पड़े :

Leave a Comment

Your email address will not be published.

5 Best Ways to Use a Home Equity Loan The Pros and Cons of Early Retirement 8 Ways to Achieve a Happy Retirement One of the Best Long-Term Crypto Investments: Knowledge U.S. SEC Delays Decision on ARK 21Shares Spot Bitcoin ETF
5 Best Ways to Use a Home Equity Loan The Pros and Cons of Early Retirement 8 Ways to Achieve a Happy Retirement One of the Best Long-Term Crypto Investments: Knowledge U.S. SEC Delays Decision on ARK 21Shares Spot Bitcoin ETF